Breaking NewsHardoiदेशराज्यहोम
Breaking News

ज्यादा मौतें होने के कारण शवों की किट खत्म होने का हवाला दे रहे जिम्मेदार, जानें पूरा मामला

आकाश शुक्ला, ब्यूरो

हरदोई। जिले में भी स्वास्थ्य सेवाओं की पोल इस वैश्विक महामारी के दौर में रोज किसी न किसी रूप में उजागर होकर सामने आ रही है।एक तरफ संक्रमित मरीजों को ऑक्सीजन की कमी व चिकित्सकों की कमी के चलते इलाज नहीं मिल पा रहा है।जिससे जिले के सैकड़ों लोग काल के गाल में समा चुके हैं।तो दूसरी तरफ अब मरने के बाद भी शवों को लेने आये परिजनों को लोहे के चने चबाने पड़ रहे हैं।आज सुबह से जिले के एल 2 हॉस्पिटल में शवों को कवर करके देने वाली किटों की किल्लत हो गयी।किट खत्म होने के कारण शव कई घंटों से अस्पताल में खुले हुए पड़े हैं और परिजन भी अपनी जान जोखिम में डाल कर कोविड हॉस्पिटल में डेरा डाले बैठे हैं।जिम्मेदारों ने कहा कि मौतें ज्यादा होने के कारण किट खत्म हो गयी।वहीं फोनिक वार्ता पर डिप्टी सीएमओ ने भी इसे एक बड़ी लापरवाही होना स्वीकार किया है।

हरदोई जिले के एल 2 हॉस्पिटल व स्वास्थ्य विभाग के बड़े अफ़सरनो की एक और बड़ी लापरवाही उजागर होकर सामने आई है।यहां आज सुबह जब अंशु मिश्रा नाम के एक युवक के पिता अरुण मिश्रा की कोविड से मृत्यु हो गयी।जिसके बाद उसने शव दिए जाने की बात स्वास्थ्य विभाग के जिम्मेदारों से कही।तब ये खुलासा हुआ कि शवों को लपेटन वाले कवर/किट ही खत्म हो गयी हैं।सुबह से शाम होने आई है लेकिन किटों की व्यवस्था नहीं हो पाई है जिससे कि पीड़ित अंशु के साथ ही अन्य लोगों के शव भी ऐसे ही अस्पताल में खुली अवस्था मे पड़े हैं और सड़ने की कगार पर आ पहुंचे हैं।जोकि यहां भर्ती मरीजों व उनके परिजनों के लिए बड़े खतरे का सबब बने हुए हैं।ऐसे में किटों का यूं समाप्त हो जाना एक बड़ी लापरवाही को उजागर कर रहा है।अगर किटें खत्म होने की कगार पर थीं तो आखिर क्यों कि उनकी व्यवस्था पूर्व में ही नहीं कि गयी?इस सवाल का जवाब फिलहाल किसी के पास नहीं है।

वहीं जब फोनिक वार्ता पर सीएमओ सूर्यमणि त्रिपाठी से इस संबंध में बात की गई तो उन्होंने सभी व्यवस्थाएं चुस्त दुरुस्त होने की बात कही और किटों की उपलब्धता की भी बात कही।लेकिन जब डिप्टी सीएमओ डॉ स्वामी दयाल से इस संबंध में वार्ता की गई तो उन्होंने सीएमओ की बात को गलत ठहराते हुए कहा कि किटें खत्म हो चुकी हैं।कहा कि बीते तीन दिनों में मौतें ज्यादा होने के कारण किट खत्म हो गयी हैं।कानपुर से किटों को मंगवाया गया है।जिन्हें आने में 3 से 4 घंटे लग जाएंगे।जैसे ही किटें आएंगी वैसे ही शवों को परिजनों के सुपुर्द कर दिया जाएगा।ऐसे में शव लेने आये परिजन कई घंटों से कोविड हॉस्पिटल में डेरा डाले हुए हैं।तो जिम्मेदारों ने भी इसे एक बड़ी लापरवाही होना स्वीकार किया है।

Related Articles

Back to top button
Close