Hardoiदेशराजनीतीराज्यहोम

सियासी रण का चुनावी शंखनाद: समाजसेवी राजवर्धन की विशाल जनसभा से बढ़ी राजनीतिक गलियारों की सरगरमी, देखें वीडियो

आकाश शुक्ला, ब्यूरो

हरदोई। जनपद हरदोई के प्रख्यात समाजसेवी राजवर्धन सिंह राजू ने रविवार को अपनी राजनीतिक यात्रा का औपचारिक शंखनाद कर दिया। हरपालपुर विकासखंड की पलिया ग्रामसभा में उन्होंने विशाल जनसभा का आयोजन किया। मिशन आत्मसन्तुष्टि से जुड़े अपने समर्थकों की विशाल भीड़ देखकर उन्होंने विधानसभा चुनाव लड़ने का बिगुल फूंक दिया। मिशन आत्मसंतुष्टि के संस्थापक अध्यक्ष राजवर्धन सिंह राजू ने समर्थकों में जोश और जुनून बनाए रखने के लिए मिशन सवायजपुर का आगाज किया। उन्होंने कहा कि मिशन सवायजपुर को 2022 में सफल बनाने के लिए मिशन आत्मसन्तुष्टि के कार्यकर्ताओं को हरसंभव प्रयास करना होगा। उन्होंने कहा कि सवायजपुर में वही सफल होगा जो जरूरतमंदों के साथ खड़ा होगा।

इससे पहले रविवार सुबह जनपद मुख्यालय से जनसभा के लिए राजवर्धन सिंह का काफिला निकला। कार्यकर्ताओं ने जगह-जगह अपने प्रिय नेता का स्वागत किया। काफिला हरदोई हाईवे मार्ग से सांडी रवाना हुआ। यहां से घटकना, लमकन, इकनौरा, हरपालपुर, जोधनपुरवा में उनके समर्थकों ने फूलमाला पहनाकर जोरदार स्वागत किया। इसके बाद वह पलिया गांव पहुंचे, जहां उन्होंने विशाल जनसभा को संबोधित किया। मिशन आत्मासंतुष्टि के संरक्षक राजवर्धन सिह ने कहा कि प्रभुश्रीराम को साक्षी मानकर अपने मिशन को चला रहे हैं। आजादी के 75 वर्ष बीतने के बाद भी उपेक्षित रही कटियारी क्षेत्र की जनता के साथ उन्होंने कंधे से कंधा जोड़कर काम किया है। कटियारी के लोगों ने अब तक सपा, बसपा, भाजपा और कांग्रेस चारों पार्टियों के नेताओं को मौका दिया है। कटियारी की जनता ने किसी को निराश नहीं होने दिया और विधायक बनाया। इसके बावजूद यहां के लोगों की मूलभूत जरूरतों की पूर्ति नहीं हुई। उन्होंने कहा कि गरीब बेटियों की शादी और उनके इलाज की जिम्मेदारी मिशन आत्मसंतुष्टि उठा रही है।

राजवर्धन सिंह ने कहा कि कटियारी की जनता जब बीमार होती है तो उन्हें बेहतर इलाज नहीं मिल पाता। अब तक विधायक बन चुके क्षेत्र के नेताओं ने कन्या डिग्री कॉलेज तक नहीं बनवाया। सवाजपुर विधानसभा के नेताओं ने जनता को स्टेडियम, स्कूल, गौशाला और बारात घर तक कहीं नहीं बनवाए। कटियारी के चार और राष्ट्रीय पार्टी के नेताओं ने विद्यालय तो खुलवाया, सिर्फ जनता का खून चूसने के लिए और अपनी जेबें भरने के लिए। कुछ नेताओं की हवेलियां बनीं हैं। सवाजपुर के नेता जनता की कॉलोनी, शौचालय सबकुछ खा गए। चुनाव की बरसात आते ही नेताओं ने लाखों की होर्डिंग लगवा दी हैं। उन्होंने कहा कि नेताओं को जनता की याद सिर्फ दीपावली और नवरात्र की शुभकामनाएं देते समय आती है। यही नेता गरीब बेटी की शादी या इलाज करा देते तो वह सच्ची शुभकामना होती।

उन्होंने कहा कि सवायजपुर विधानसभा के नेताओं ने थाने, तहसील आदि अन्य सरकारी कार्यालय बांध रखे हैं। शराब, पायल पर इस बार चुनाव नहीं हो पाएगा। उन्होंने भाजपा विधायक माधवेन्द्र सिंह रानू, सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष पद्मराग सिंह पम्मू पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि सत्ता पक्ष के विधायक प्रधानी का चुनाव हार गए। सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष भी अपनी ग्राम पंचायत में जीत नहीं दर्ज करा पाए। ब्लॉक प्रमुख चुनाव में सत्ता पक्ष के होते हुए भाजपा के प्रत्याशी को सिर्फ 5 वोट मिले तो वहीं सपा प्रत्याशी ने जीत दर्ज की।

राजवर्धन सिंह ने कहा कि यह दोनों नेता चोर-चोर मौसेरे भाई हैं, यहां एक-दूसरे का विरोध नहीं करते हैं। भोली-भाली जनता को बेवकूफ बनाकर लूटने का काम करते हैं। मिशन आत्मसंतुष्टि के लोग मिलकर 2022 के विधानसभा चुनाव में विजय फहराएंगे। हर वर्ग विशेष के व्यक्ति सम्मान की लड़ाई लड़ेंगे। इस दौरान बैरिस्टर सिंह, रीता सिंह, रामचरण, छविराम, संतोष अवस्थी, देवेश शुक्ला, बादाम सिंह एवं आमिर मंसूरी आदि लोग मौजूद रहे।

Related Articles

Back to top button
Close