देशराज्यलखनऊहोम

प्रशिक्षण के पूर्ण होने से पहले रोजगार के अवसर “*

आकाश शुक्ला, ब्यूरो

लखनऊ। उत्तर प्रदेश कौशल विकास मिशन द्वारा संचालित त्रिवेणी नगर में सौभाग्य फाऊंडेशन द्वारा कौशल प्रशिक्षण ले रहे लाभार्थियों का हुनर देख कर नियोक्ता प्रशिक्षण के पूर्व रोजगार के अवसर लाभार्थियों को प्रदान कर रहे है ।

संस्था की सचिव श्रीमती पूजा मेहरोत्रा ने बताया कि, प्रशिक्षण के पाठ्यक्रम के साथ उनका रुझान बच्चो के बौद्धिक विकास और एक्सपोजर में भी है। जिसके चलते हर सेक्टर के नियोक्ता बच्चो से रूबरू होने सेंटर में बच्चो के बीच आकर अपने सेक्टर का अनुभव ( गेस्ट लैक्चर) के माध्यम से साझा करते है। साथ ही बच्चो को भी प्रशिक्षण के चलते मौका मिलता है कि वह इन कंपनी में पहले से जाकर उनका संचालन और काम समझ सकें। अभी २०० से अधिक बच्चो के प्रशिक्षण चलते , लगभग १८ से अधिक कंपनियों ने लगभग ११० से अधिक बच्चो का चयन पहले से ही कर लिया है जिसमे ३५ दिव्यांग बच्चे मूकबधिर हैं। फ्लिपकार्ट कंपनी ने ३९ , स्टार्ट्रेक ने ४ , विशाल मेगा मार्ट ने १५ , होटल फॉर्च्यून ने ३ , होटल रेडिसन ने ५, दयाल पैराडाइस ने २ , मिडलैंड हेल्थ केयर एंड रिसर्च सेण्टर ने १ , नव श्री हॉस्पिटल ने १ , वैल्यू इंडिया लिमिटेड ने ७, लिवना होटल ने १५ , डी अन ऐ हॉस्पिटल ने ६ , बी अन के इंफोकॉम ने ४ , फ़ास्ट डायग्नोस्टिक्स ने ३ , को न्युक्ति पत्र प्रदान भी कर दिए है। प्रशिक्षण खत्म होते ही, यह सभी बच्चे अपनी चयनहित कम्पनी में आत्मनिर्भरता से अपना रोजगार शुरू करें देगें। अभी प्रशिक्षण की अवधि खत्म होने में जबकि २ हफ्ते का समय शेष बचा हैं, संस्था को विश्वास है कि वह १५० से अधिक बच्चो को उनके प्रशिक्षण खत्म होने से पूर्व रोजगार मुहैया करवा देंगे । सचिव श्रीमती पूजा मेहरोत्रा ने विशेष रूप से आभार व्यक्त किया आदरणीय श्री आंद्रे वामसी जी का ( मिशन निदेशक – उत्तर प्रदेश कौशल विकास मिशन) जिनकी सक्रियता और मार्गदर्शन से उत्तर प्रदेश के हर जिले में इसी उत्साह से प्रशिक्षण केंद्र संचालित किए जा रहे है। वित्तीय वर्ष २०२२ – २३ में समस्त लाभार्थियों के रोजगार के लिए उत्तर प्रदेश कौशल विकास मिशन द्वारा हर जिले के प्रशिक्षण केंद्र को नए टारगेट आवंटित करने की प्रक्रिया जोरो से शुरू कर दी गई हैं जिसका लाभ सभी लाभार्थियों को जल्द ही मिलेगा जिसके लिए उत्तर प्रदेश कौशल विकास मिशन दृढसंकल्पित हैं।

Related Articles

Back to top button