देशराज्यलखनऊहोम

छाएगी मायूसी या मिलेगा सम्मान, इस वर्ष भी राज्य अध्यापक पुरस्कार समारोह की राह ताक रहे प्रदेश भर से चयनित हुए 73 शिक्षक

आकाश शुक्ला, ब्यूरो

लखनऊ/यूपी। वर्ष 2019 के लिए चयनित राज्य अध्यापक पुरस्कार प्राप्त प्रदेश के 73 शिक्षक राजधानी लखनऊ में राज्य अध्यापक पुरस्कार समारोह के आयोजन की बाट जोह रहे हैं। गत वर्ष पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन के कारण 5 सितंबर को शिक्षक दिवस ना होने की स्थिति में इस बार उम्मीद की जा रही है , कि उन्हें मुख्यमंत्री और राज्यपाल के हाथों राज्य अध्यापक पुरस्कार प्राप्त होगा। लेकिन अभी तक कोई हलचल ना होने से शिक्षकों के चेहरों पर मायूसी है।
गौरतलब है कि प्रदेश सरकार द्वारा प्रतिवर्ष उत्कृष्ट कार्य के लिए शिक्षकों का राज्य अध्यापक पुरस्कार के लिए चयन किया जाता है। इस कड़ी में वर्ष 2019 के लिए प्रदेश भर से 73 शिक्षकों का लंबी प्रक्रिया के पश्चात राज्य अध्यापक पुरस्कार के लिए चयन किया गया था।

गत वर्ष 2 सितंबर को राज्य अध्यापक पुरस्कार की सूची भी प्रदेश शासन द्वारा जारी कर दी गई थी, लेकिन 5 सितंबर से पूर्व ही पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन के कारण राष्ट्रीय शोक के चलते शिक्षक दिवस के कार्यक्रम स्थगित कर दिए गए। उसके पश्चात 1 साल तक कोई कार्यक्रम इन राज्य अध्यापक पुरस्कार के लिए चयनित शिक्षकों के लिए प्रदेश शासन द्वारा समारोह आयोजित नहीं किया गया। जबकि हरियाणा दिल्ली व राजस्थान आदि प्रदेशों में बाद में कार्यक्रम आयोजित कर वहां के राज्य अध्यापक पुरस्कार शिक्षकों को सम्मानित किया जा चुका है।

अब आगामी 5 सितंबर को शिक्षक दिवस के अवसर पर प्रदेश के 73 राज्य अध्यापक पुरस्कार के लिए चयनित शिक्षकों को उम्मीद जगी है , कि इस बार उन्हें पूर्व की भांति परंपरागत ढंग से राजधानी लखनऊ में मुख्यमंत्री व राज्यपाल के हाथों राज्य अध्यापक पुरस्कार प्राप्त होगा।
हाल ही में मुख्यमंत्री एव राज्यपाल ने राजधानी लखनऊ में समारोह पूर्वक नारी शक्ति पुरस्कार वितरित किए हैं, तथा मुख्यमंत्री द्वारा विभिन्न सेवाओं में चयनित अभ्यर्थियों को भी नियुक्ति पत्र अपने हाथों से दिए जा रहे हैं। इस स्थिति में राज्य अध्यापक पुरस्कार के आयोजन की भी आस जगी है।

लेकिन माह अगस्त के अंतिम सप्ताह हो जाने के पश्चात भी शासन द्वारा इस संदर्भ में कोई हलचल ना होने से राज्य अध्यापक पुरस्कार के लिए चयनित इन शिक्षकों के चेहरों पर मायूसी है।
विभिन्न शिक्षक संगठनों के अलावा मुरादाबाद बरेली क्षेत्र से शिक्षक विधायक डॉ हरी सिंह ढिल्लों एवं पूर्व कैबिनेट मंत्री व भाजपा प्रदेश इकाई की कार्यकारिणी के सदस्य वीरेंद्र सिंह ने पत्र लिखकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मांग की है , कि प्रदेश के राज्य अध्यापक पुरस्कार के लिए चयनित शिक्षकों के लिए राजधानी लखनऊ में पूर्व की भांति समारोह पूर्वक पुरस्कार वितरण का आयोजन किया जाए।

 

Related Articles

Back to top button
Close